Uncategorised

good neighbor : अच्छे पड़ोसी मिलना किसी वरदान से कम नहीं है

good neighbor : अच्छे पड़ोसी मिलना किसी वरदान से कम नहीं है वहीं बुरे पड़ोसी मिलना किसी अभिशाप अभी से
कम नहीं है गांव कस्बा और छोटे शहरों को छोड़ दे तो महानगरीय जीवन में लोगों के पास इतना
ही समय नहीं है कि वे अपने आसपास रहने वाले के बारे में सोचें उनके बारे में जानने की कोशिश
करें

यदि योजना भी यह जानना चाहे तो कभी खुद के पास समय की कमी कभी पड़ोसी के पास समय
की कमी इसी भागदौड़ में शहरी जीवन बीत रहा है एक तरफ बात महानगरों में तो दूसरी तरफ
घरों से दूर दफ्तरों में तक पहुंचने में रोजाना घंटों का सफर

फिर शाम को घरों तक लौटने में घंटों का समय परिवारिक जिम्मेदारियों और बच्चों को समय देने
के बाद पड़ोसियों के लिए बचता ही कहां है लेकिन समय निकालना आज की सबसे बड़ी जरूरत है


good neighbor : सामाजिक होने के नाते पड़ोसियों के साथ अच्छे रिश्ते के ढेर सारे फायदे हैं



सामाजिक होने के नाते पड़ोसियों के साथ अच्छे रिश्ते के ढेर सारे फायदे हैं और ताज्जुब यह है कि
इसी के लिए हम सबसे कम प्रयास करते हैं अच्छे पड़ोसी होने का पहला और सबसे आसान
तरीका जाने का है बर्फ को तोड़ना है

पड़ोसियों के सामने आगे बढ़कर खुद परिचय देना बहुत कठिन तो नहीं खुले दरवाजे के साथ अपने
पड़ोसियों का स्वागत करना है अच्छा है अगर हम अपने पड़ोसी को जानते ही नहीं तो उनके सुख
-दुख को भला क्या समझ पाएंगे

और क्या समझाएंगे ठीक इसी तरह आपके बारे में पड़ोसी को भी जानने जानने का समय नहीं है
अंजाना माहौल एक दिन अचानक नफरत में बदल गइले जाएगा

तमाम धर्म शास्त्रों नीति वचनों और दृष्टि में पड़ोसी होने के फायदे और किस्से कहानियों के माध्यम
से समझा जा सकता है नीतिवचन में कहा गया है कि प्रेम करने वाला पड़ोसी दूर रहने वाले भाई से
कहीं उत्तम है ऐसे में जरूरी है कि एक दूसरे के सुख दुख भरे जाने की शुरुआत तो करें good neighbor

Back to top button
Close
Close

Adblock Detected

please turn off ad blocker
Powered by WordPlace